डॉ. अर्चना शर्मा का जीवन परिचय। Biography of Archana Sharma In Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम बात कर रहे है भगवान के रूप में लोगों को बचाने वाली डॉ अर्चना शर्मा की जो अब हमारे बिच नहीं रही उन्होंने कुछ समय पहले ही आत्महत्या कर ली और एक सुसाइड नोट छोड़ गई यह सुसाइड नोट उनकी बेगुनाही का सबुत है तो चलिए आगे जानते है शर्मा के बारे में पूर्ण जानकारी वे कौन है, और उन्होंने सुसाइड क्यो किया तथा उनके परिवार के बारे में विस्तार में जानते है।

डॉ. अर्चना शर्मा का जीवन परिचय

  • नाम- अर्चना शर्मा
  • जन्म – 1980
  • पति – सुनीत उपाध्याय
  • मृत्यु – 30 मार्च 2022
  • जन्म स्थान- रांची

प्रारंभिक परीचय

डॉ अर्चना शर्मा का जन्म 1980 झारखंड के रांची में हुआ उनके माता-पिता के बारे में अधिक जानकारी नहीं है। उनकी विद्यालयी शीक्षा रांची के सेक्रेत हार्ट स्कुल से पूरी हुई, राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज रांची से MD (प्रसुती एवं स्त्री रोग) तथा MBBS पूरा किया। (Archna sharma biography in hindi)

डॉ. अर्चना शर्मा का परिवार (Family)

डॉ. अर्चना शर्मा के माता-पिता के बारे में अधिक जानकारी नहीं है उनके पती का नाम सुनीत उपाध्याय है। अर्चना ने सुनीत उपाध्याय से 1 मार्च 2010 को विवाह किया | इनके दो बच्चे है बेटे का नाम राघव तथा बेटी का नाम शाम्भवि है। (Dr. Archna Sharma Famiy)

डॉ. अर्चना शर्मा का करियर (Career)

रांची के राजेन्द्र इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज से MD (प्रसुती एवं स्त्री रोग) तथा MBBS पुरा किया। वे पहले गुजरात के सरकारी मेडिकल विश्वविद्यालय में यूनिट हेड और एसोसीएट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत थी तथा बाद में वे लालसोट के आनन्द अस्पताल में प्रसुती एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ के रूप में अपने पति के साथ ही कार्य करने लगी। अपने पुरे डॉक्टरी के करियर में 500 से ज्यादा प्रसव सुरक्षित रूप से किए है। (डॉ अर्चना शर्मा का जीवन परिचय)

प्रोफेसर के साथ ही वे काफी अच्छी सर्जन भी थी तथा कई VIP के ऑपरेशान कर चुकी है। उनके अच्छे कार्यों से प्रभावित हो कर कई बार वे समाचार पत्र का हिस्सा बनी तथा उनके सफल कार्यो को चित्रीत किया गया है।

सम्मान तथा उपलब्धियां (Awards)

•• विद्यालय तथा विश्वविद्यालय के दौरान मंचीय तथा सांस्कृतिक क्रियाकलापो के लिए कई पुरस्कार प्राप्त किए ।

•• अपने पुरे करियर में 500 से ज्यादा प्रसव सुरक्षीत रूप से किए है। (archna shrma award list)

•• प्रसुती एवं स्त्री रोग के राष्ट्रीय सम्मेलन में एक बार सबसे अच्छे वक्ता का पुरस्कार जीतकर सम्मान प्राप्त किया ।

•• उनके सफल कार्यो के लिए कई बार समाचार पत्र में देखने को मीली |

•• कॉलेज प्रोफेसर के साथ वे काफी अच्छी सर्जन भी थी तथा कई ऑपरेशन भी कर चुकी है।

डॉ. अर्चना शर्मा की मृत्यु (Dr. Archna Sharma Sucide)

डॉ. अर्चना शर्मा अपने पुरे करियर में 500 से ज्यादा सफल तथा सुरक्षीत प्रसव कर चुकी है। शर्मा ने 30 मार्च 2022 से आत्महत्या कर अपनी बेगुनाही साबित कर दि (डॉ. अर्चना शर्मा की जीवनी) एक दिन एक 22 साल की महिला जिसका नाम आशा बैरवा है उसका ऑपरेशन कर सुरक्षित तथा सफल डिलिवरी कर ली परन्तु अचानक कुछ वक्त पश्चात पोस्टमार्टम हेमरेज (PPH) के कारण से आशा की मृत्यु हो गई।

उसके शव को परिवार वाले घर ले गए किन्तु कुछ घंटो के बाद उसके शव को पुन: अस्पताल ले आए इस बार शव और परिवार वालों के साथ BJP (भारतिय जनता पार्टी) की एक नेता भी आई और अस्पताल के समक्ष धरना देकर पुलिस को तथा आम जनता को इकट्ठा करना शुरू कर लीया। पुलिस ने अर्चना के खिलाफ आशा की हत्या का आरोप लगाया और धारा 302 के तहत FIR दर्ज की ,(Archna Sharma sucide note) इससे अर्चना डर गई और तनाव में आकर आत्महत्या कर ली

उन्होंने एक सुसाइड नोट छोड़ा जीसमें लिखा था कि “मैं अपने पति और बच्चों से बहुत प्यार करती हु कृपया मेरे मरने के बाद इन्हें परेशान नहीं करना | मैंने कोई गलती नहीं कि किसी को नहीं मारा है। PPH एक ज्ञात Complication है इसके लिए डॉ को इतना प्रताड़ित करना बन्द करो। मैरी मोत शायद मेरी बेगुनाही साबित कर दे। कृपया कर निर्दोष डॉक्टरों को परेशान ना करे मैं तुमसे प्यार करती हूं मेरे बच्चो को माँ क़ी कमी महसुस नहीं होने देना। – डॉ. अर्चना शर्मा”

डॉ अर्चना शर्मा के इंसाफ की मांग

डॉ अर्चना शर्मा की मृत्यु से सभी परेशान है और हर कोई उन्हें इंसाफ दिलाना चाहता है अब वह तो मर गई लेकिन दूसरे कई बेगुनार डॉ को ऐसी स्थीती से ना गुजरना पड़े तथा डॉ अर्चना की आत्मा को शान्ति मिले। अर्चना के पति सुनीत उपाध्याय ने पूरी कहानी बताकर विडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया और

उनकी पत्नी के लीए इंसाफ मांगा विडीयो में उन्होंने यह भी कहा कि “पुलिस के खीलाफ शख्त कार्यवारी होनी चाहिए पुलीस ने अर्चना के खिलाफ धारा 302 कैसे दर्ज की FIR अर्चना की बजाय उन लोगों के खिलाफ दर्ज होनी चाहिए। डॉ को प्रताडित करने तथा पैसे मांगने के खिलाफ कानून बनना चाहिए। मेरी पत्नी तो मर गई लेकिन और बेगुनाह डॉक्टर को इंसाफ मीलना चाहिए।”

IMA (इंडियन मेडिकल असोसीएशन) ने अर्चना शर्मा के लिए रेलियां निकाली और इंसाफ की मांग की है (Archna Sharma biography in short) हर जगह पर मेडिकल फील्ड से जुड़े व्यक्ति तथा कई जगह पर आम इंसान भी केंडल जला कर, रेलीया नीकालकर अर्चना के लिए इंसाफ मांग रहे हैं।

इस घटना पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शोक जताया और दौसा के SP अनिल कुमार को हटाने का आदेश दिया और स्टेशन हाउस ऑफिसर (SHO) को भी निलंबित कर दिया है। उन्होंने ट्वीटर पर ट्वीट किया की “डॉ. अर्चना शर्मा की मृत्यु की घटना बेहद दुखद है।

हमारे लीए डॉ. भगवान का रूप होते हैं और डॉ भी मरीज को बचाने की पूरी कोशीश करता है, लेकिन कोई अनहोनी हो जाने पर डॉ को दोषी ठहराना अनुचीत है।” तो दोस्तो, क्या आपको लगता है की अर्चना शर्मा की कोई गलती थी? यदि नहीं तो उन्हें इंसाफ दिलाने में अपना सहयोग दे, और कमेंट में डॉ अर्चना शर्मा को भावपूर्ण श्रद्धांजली दे।

More Articles :-

Tushar Shrimali Jivani jano के लिए Content लिखते हैं। इन्हें इतिहास और लोगों की जीवनी (Biography) जानने का शौक हैं। इसलिए लोगों की जीवनी से जुड़ी जानकारी यहाँ शेयर करते हैं।

Leave a Comment