Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi PDF Download Free [2024]

आज की इस पोस्ट में हम आपको Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi PDF उपलब्ध करवाने वाले है, जिसे आप पोस्ट में दिए गए Download Link की सहायता से आसानी से Download कर सकते है।

दोस्तों सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा गीत “तराना-ए-हिंदी” के रूप औपचारिक रूप में माना जाता है। इस गीत की रचना उर्दू भाषा में हुई थी और इस गीत के रचियता मुहम्मद इकबाल है। यह गीत पहली बार साप्ताहिक पत्रिका में प्रकाशित हुआ था यह साप्ताहिक पत्रिका 16 अगस्त 1904 को प्रकाशित हुई थी।

जब इस गीत को सुना जाता है या गाया जाता ही तब लोगो के मन में देश भक्ति की भावना जागृत होती है। इस गीत की गायिका लता मंगेशकर है और इसके बाद हि यह गीत मशहूर हुआ था। इस गीत को सबसे ज्यादा हमारे देश में 26th जनवरी और 15th अगस्त के मोके पर चलाया जाता हैं।

Sare Jahan Se Acha Lyrics PDF Overview

Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi PDF
PDF Titleसारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्ता हमारा लिरिक्स
Written By मुहम्मद इक़बाल
No. of Pages4
PDF Size1.38 MB
LanguageHindi
Download LinkAvailable

Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi PDF

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा।
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिसताँ हमारा।।

ग़ुरबत में हों अगर हम, रहता है दिल वतन में।
समझो वहीं हमें भी, दिल हो जहाँ हमारा।। सारे…

परबत वो सबसे ऊँचा, हमसाया आसमाँ का।
वो संतरी हमारा, वो पासबाँ हमारा।। सारे…

गोदी में खेलती हैं, उसकी हज़ारों नदियाँ।
गुलशन है जिनके दम से, रश्क-ए-जिनाँ हमारा।। सारे….

ऐ आब-ए-रूद-ए-गंगा! वो दिन है याद तुझको।
उतरा तेरे किनारे, जब कारवाँ हमारा।। सारे…

मज़हब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना।
हिन्दी हैं हम वतन हैं, हिन्दोस्ताँ हमारा।। सारे…

यूनान-ओ-मिस्र-ओ-रूमा, सब मिट गए जहाँ से।
अब तक मगर है बाक़ी, नाम-ओ-निशाँ हमारा।। सारे…

कुछ बात है कि हस्ती, मिटती नहीं हमारी।
सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-ज़माँ हमारा।। सारे…

‘इक़बाल’ कोई महरम, अपना नहीं जहाँ में।
मालूम क्या किसी को, दर्द-ए-निहाँ हमारा।। सारे..

Sare Jahan Se Acha Geet Lyrics in English

Sare Jahan Se Acha
Hindustan Hamara Hamara
Sare Jahan Se Acha
Hindustan Hamara Hamara

Hum Bul Bule hai Hai Iasaki
Ye Gulsitan Hamara

Parbat Ho Sabse Unchaa
Hum saya aasman kaa
Parbat Ho Sabse Unchaa
Hum saya aasman kaa

Vo Santaree Hamaraa,
vo Paaswaan hamaraa hamaraa

Godee mein kheltee Hain
Is kee hazaaron nadiya

Gulshan Hai Jinke dam se,
Rashk-e-janna hamaraa hamaraa

Mazhab nahin Sikhataa
Apas Mein Bayr Rakhnaa

Hindee Hai Hum
Hindee Hai Hum
Hindee Hai Hum Vatan hai
hindostaan hamaraa

Saare Jahaan Se Achcha
Hindostaan Hamaraa Hamaraa
Hum BulBulain Hai Iss Ki,
Ye Gulsitan Hamaraa Hamaraa

Saare Jahaan Se Achcha
Hindostaan Hamaraa Hamaraa
Saare Jahaan Se Achcha

Note - Sare Jahan Se Acha Lyrics in Hindi Download करने के लिए निचे दिए गए Download बटन पर क्लिक करे। 

दोस्तों सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा गीत में भारत के सौंदर्य का वर्णन किया गया है और इस गीत में भारत की नदियों की खूबसूरती के बारे में भी बताया गया है जब इस गीत की कोई सुनता है तो उसके अंदर देश के प्रति गर्व महसूस होता है और अपने देश के प्रति देश भक्ति की भावना जागती है।

FAQs:- Sare Jahan Se Accha Lyrics Download

सारे जहाँ से अच्छा लिखने वाला कौन था?

दोस्तों सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा गीत “तराना-ए-हिंदी” के रूप औपचारिक रूप में माना जाता है। इस गीत को लिखने वाला मुहम्मद इकबाल है इन्होने इस गीत को उर्दू भाषा में लिखा था। यह गीत पहली बार 16 अगस्त 1904 को साप्ताहिक प्रत्रिका में प्रकाशित हुआ था।

सारे जहाँ से अच्छा भारत का क्या है?

सारे जहाँ से अच्छा भारत का एक गीत “तराना-ए-हिंदी” के रूप औपचारिक रूप में माना जाता है। यह गीत उर्दू भाषा में लिखी गई देशप्रेम की एक ग़ज़ल है। इस गीत को जब गाया जाता है या फिर सुना जाता है तो देश प्रेम की भावना जागृत होती है।

Conclusion:-

इस पोस्ट में Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi PDF मुफ्त में उपलब्ध करवाई गयी है। उम्मीद करते है की Sare Jahan Se Achcha Hindustan Hamara Hamara PDF Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हुई होगी।

अगर सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा हम बुलबुले है इसकी ये गुलसिता हमारा गीत की पीडीऍफ़ आपको जरूर पसंद आयी होगी। यदि आपको Sare Jahan Se Acha Pdf डाउनलोड करने में कोई समस्या आ रही हो तो कमेंट करके जरूर बताये। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Download More PDFs:-

Leave a Comment